अमेठी कोतवाली मोहनगंज गोली कांड की घटना एक सोची समझी साजिश तो नही

 

शनिवार की देर शाम युवक को मारी गयी थी गोली

तिलोई /अमेठी

तहसील तिलोई क्षेत्र में शनिवार की देर शाम लगभग 00:8 बजे आपसी रंजिश में युवक को मारी गयी गोली कहीं एक सोची समझी साजिस तो नहीं इस बात को लेकर क्षेत्र में लोगों के जेहन में तरह तरह के सवाल उत्पन्न हो रहे हैं
ज्ञात हो कि शनिवार की देर शाम मोहनगंज कोतवाली क्षेत्र के गांव पूरे रजवंत मजरे खानापुर चपरा में पुरानी रंजिश में ब्रजेश कुमार विश्वकर्मा को संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगने की सूचना ने क्षेत्र में सनसनी फैला दिया था जिसमें गोली कांड के शिकार घायल ब्रजेश कुमार के चचेरे भाई रमेश विश्वकर्मा पुत्र जगदेव ने कोतवाली मोहनगंज में अंसार पुत्र अनवर को नामजद करते हुए अन्य अज्ञात लोगों के विरूद्ध तहरीर दिया था
जानकारी के मुताबिक आरोपी अंसार पुत्र अनवर तथा घटना में घायल ब्रजेश कुमार की पुरानी रंजिश थी जिनका कुछ दिन पहले भी मामला कोतवाली मोहनगंज में आया था जिसमें ब्रजेश कुमार ने बताया था कि अंसार ने उस पर चाकू से हमला कर घायल कर दिया था लेकिन पुलिस जांच में पाया गया था कि वह एक सोची समझी रणनीति के तहत आरोपी अंसार को मुकदमे में फंसाने के लिए ऐसा क्रत्य किया गया था लिहाजा पुलिस ने दोनों पक्षों को समझा बुझाकर मामले को शान्त करवा दिया था
वहीं एक बार फिर शनिवार की देर शाम लगभग 00:8 बजे ब्रजेश कुमार को गोली लगने की सूचना पुलिस को मिली पुलिस व प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक गोली ब्रजेश कुमार के पेट को क्षूते हुए निकली है और तमंचा भी मौके पर पुलिस को घायल ब्रजेश के शरीर के पास ही मिला है ऐसे में यह कैसे अनुमान लगाया जा सकता है गोली अंसार ने ही मारी है
सबसे अहम सवाल
कुछ दिन पहले घायल ब्रजेश कुमार ने आपसी रंजिस में अंसार को चाकू मारने की घटना में नामजद किया था जो पुलिस जांच में मामला सिफर निकला था उसके बाद दूसरी घटना फिर दोहराई गयी कि अंसार ने अज्ञात सहयोगी के साथ मिलकर गांव के नजदीक ही ब्रजेश कुमार को गोली मारी दी तो कहीं यह सम्प्रदाय विशेष को फंसाने के लिए एक सोची समझी रणनीति तो नहीं है क्या कोई अपराधी किसी को गोली मारेगा तो उसे अपना तमंचा पकड़ा कर भागेगा इस बात को लेकर क्षेत्र में चर्चाओं का बाजार गर्म है
सूत्रों के मुताबिक आरोपी अंसार व गोली से घायल ब्रजेश के बीच पुरानी रंजिस थी जो शनिवार को विद्युत तार लगवाने के लिए चंदा इकट्ठा करते समय कुछ कहासुनी के बाद यह घटना घटित हुई है
वहीं घायल ब्रजेश कुमार का इलाज लखनऊ में चल रहा है जहां डाक्टरों ने उसकी हालत खतरे से बाहर बतायी है।

बोले कोतवाली प्रभारी
उक्त प्रकरण में कोतवाली प्रभारी राजेश कुमार सिंह ने बताया है कि गोली से घायल ब्रजेश के चचेरे भाई रमेश की तहरीर पर नामजद आरोपी को हिरासत में ले लिया गया है घटना की बारीकी से जांच पड़ताल की जा रही है जो भी दोषी पाया जायेगा उसे विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी

संवाददाता
धर्मराज रावत।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

किसान नेता पीडितो के साथ पहुचे पुलिस अधीक्षक कार्यालय अमेठी पुलिस अधीक्षक ने जायस पुलिस को दिये कार्यवाही के निर्देश

🔊 Listen to this अमेठी जय किसान आन्दोलन उत्तर प्रदेश के संयोजक संजय कुमार के …